100 साल बाद भी नहीं बदला ब्लेड का डिजाइन, आखिर क्यों किसी कंपनी ने ब्लेड का डिजाइन नहीं बदल पाया

ब्लेड एक ऐसा प्रोडक्ट है जिसका ब्रांड बदल जाता है लेकिन डिजाइन एक ही रहती है..बाजार में ब्लेड की दर्जनों कंपनियां है लेकिन ब्लेड का डिजाइन एक जैसा ही है..कोई भी कंपनी ब्लेड का डिजाइन बदल नहीं पाई.

100 साल बाद भी नहीं बदला ब्लेड का डिजाइन, आखिर क्यों किसी कंपनी ने ब्लेड का डिजाइन नहीं बदल पाया

झकास न्यूज

ब्लेड एक ऐसा प्रोडक्ट है जिसका ब्रांड बदल जाता है लेकिन डिजाइन एक ही रहती है..बाजार में ब्लेड की दर्जनों कंपनियां है लेकिन ब्लेड का डिजाइन एक जैसा ही है..कोई भी कंपनी ब्लेड का डिजाइन बदल नहीं पाई..ब्लेड बनाने वाली कंपनियां अपने विज्ञापन में ब्लेड की खासियत बताती है की कैसे औरों ब्लेड से ये ब्लेड अलग है लेकिन वो यह नहीं बताती की ब्लेड का डिजाइन सबकी एक ही जैसी है..

पहली बार 1901 में बनी थी ब्लडे

दुनियभर में पहली बार जिलेट कंपनी ने ब्लेड का निर्माण किया...जिलेट कंपनी के संस्थापक थे किंग कैप जिलेट जिन्होने 1901 में ब्लेड का निर्माण शुरू किया था...किंग कैप ने अपने दोस्त विलिमय निकर्सन के साथ मिलकर ब्लेड का डिजाइन तैयार किया था...

कहां से आया ब्लेड बनाने का आइडिया

जिलेट कंपनी के संस्थापक किंग कैप पहले एक ढक्कन बनाने वाली कंपनी में कर्मचारी थी...किंग कैप  ने देखा की ढक्कन का इस्तेमाल कर लोग फेंक देते हैं फिर भी ढक्कन का प्रोडक्शन बड़े पैमाने पर किया जाता है..जिसके बाद किंग कैप के दिमाग में आइडिया आया की क्यों ने शेविंग करने के लिए कुछ सामान ऐसा बनाया जाए तो यूज एंड थ्रो हो..उस समय दाढ़ी बनाने के लिए उस्तरे का इस्तेमाल किया जाता था..लोगों को सैलून में जाना पड़ता था..खुद से लोग उस्तरे का इस्तेमाल नहीं कर सकते थे...जिसके बाद किंग ने ब्लडे और रेजर बनाने की ठान ली...

बाजार में आई कई कंपनियां लेकिन ब्लेड का डिजाइन एक ही जैसा रहा

दुनिया भर के बाजार में जिलेट का ब्लेड औऱ रेजर कि डिमांड काफी बढ़ने लगी...डिमांड बढ़ता देख दूसरी कंपनियां भी बाजार में उतरी..लेकिन किसी ने ब्लेड का डिजाइन नहीं बदला..इसके पीछे का कारण यही था की उस समय रेजर बनाने वाली कंपनी सिर्फ जिलेट ही थी..अब रेजर में फिट होने के लिए ब्लेड को उसके आकार से ही बनाया जा सकता था जिससे ब्लेड आसानी से रेजर में फिट हो सके..जिसके कारण दुनियाभर में ब्लेड का एक डिजाइन फॉलो किया गया...