रेलवे में सेंट्रल, जंक्शन और टर्मिनल में क्या अंतर होता है

Difference between Central, Junction and Terminal in Railways: अंग्रेजों के शासन काल में, भारत में पहली बार 16 अप्रैल 1853 में मुंबई से ठाणे के बीच ट्रेन चली, भारत में इस घटना के बाद रेलवे का लगातार विस्तार होता गया, और 19वीं शताब्दी के प्रारंभ में रेलवे बोर्ड का गठन किया गया. और आज भारतीय रेलवे पूरी दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क बन चुका है. आज भारत में 18 रेलवे जोन 70 रेलवे डिवीजन है. नया रेलवे जोन दक्षिणी तट रेलवे जोन को बनाया गया है, जिसका मुख्यालय विशाखापट्टनम है

रेलवे में सेंट्रल, जंक्शन और टर्मिनल में क्या अंतर होता है

Difference between Central, Junction and Terminal in Railways: अंग्रेजों के शासन काल में, भारत में पहली बार 16 अप्रैल 1853 में मुंबई से ठाणे के बीच ट्रेन चली, भारत में इस घटना के बाद रेलवे का लगातार विस्तार होता गया, और 19वीं शताब्दी के प्रारंभ में रेलवे बोर्ड का गठन किया गया. और आज भारतीय रेलवे पूरी दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क बन चुका है. आज भारत में 18 रेलवे जोन 70 रेलवे डिवीजन है. नया रेलवे जोन दक्षिणी तट रेलवे जोन को बनाया गया है, जिसका मुख्यालय विशाखापट्टनम है

भारत के लोगों के लिए रेलवे यातायात का एक प्रमुख साधन है. वर्तमान समय में भारत में 8338 रेलवे स्टेशन है. लेकिन रेलवे में सफर करने के दौरान कुछ हॉल्ट मिलते हैं, कभी हमें जक्सन देखने को मिलता है, कभी स्टेशनों के नाम के आगे सेंट्रल लिखा होता है, या कभी टर्मिनल भी हमें देखने को मिलता है. जैसे जहानाबाद स्टेशन, कानपुर सेंट्रल, पटना जंक्शन, आनंद विहार टर्मिनल

इन सभी स्टेशनों के नाम में जंक्शन, टर्मिनल, सेंट्रल जैसे कई सारे शब्दों का उपयोग किया गया है. रेलवे में सफर कर रहे कई यात्रियों को जंक्शन, टर्मिनल, सेंट्रल का मतलब और अंतर नहीं पता होता है. चलिए रेलवे विभाग के द्वारा स्टेशनों के नाम के पीछे उपयोग किए जाने वाले इन शब्दों के मतलब को समझते हैं.

जंक्शन का मतलब क्या होता है | meaning of junction in hindi

रेलवे जंक्शन वैसे स्टेशन को कहा जाता है, जहां से कम से कम 3 रूट के लिए ट्रेन निकलती हो, मतलब वैसा रेलवे स्टेशन जहां से ट्रेन तीन अलग-अलग दिशाओं में जा सकती हो, अब आइए इसे एक उदाहरण से समझते हैं. दिल्ली जंक्शन से दिल्ली शाहदरा सब्जी मंडी दिल्ली किशनगंज रेलवे स्टेशन और सदर बाजार के लिए ट्रेन जाती हैं ट्रेन इन सभी रूट से गुजर कर दूसरे शहर के स्टेशनों से मिलती है.

भारत में कई ऐसे जंक्शन हैं जहां से सबसे अधिक रूट के लिए ट्रेन निकलती हैं जैसे सबसे बड़ा जंक्शन मथुरा जंक्शन है जहां से 7 रूट के निकलती है. सबसे बड़ी जंक्शन का एक और उदाहरण देखने को तमिलनाडु के सेलम जंक्शन में मिलता है इस जंक्शन से छह अलग-अलग दिशाओं के लिए ट्रेन जाती है भारत में स्थित विजयवाड़ा और बरेली जंक्शन से भी 5 दिशाओं में ट्रेन जाती है. यह भारत के सबसे बड़े जंक्शन में से एक है. अब जब भी आप कभी किसी शहर के जंक्शन पर जाएं तो यह जरूर पता कर ले कि यहां से कितनी दिशाओं के लिए ट्रेन जाती है.

सेंट्रल का मतलब क्या होता है | meaning of central railway station in hindi

भारत में स्थित बहुत कम ही स्टेशनों के नाम के पीछे सेंट्रल लगा होता है. लेकिन रेलवे स्टेशनों के नाम के पीछे सेंट्रल क्यों लगा होता है? जब कोई स्टेशन किसी शहर का सबसे प्रमुख और पुराना स्टेशन होता है, तो उसके नाम के पीछे सेंटर लगा दिया जाता है. यानि जब भी किसी रेलवे स्टेशन के नाम के साथ सेंट्रल लिखा हो तो, आप समझ जाइए, कि वह उस शहर का सबसे पुराना और मेन रेलवे स्टेशन है. और यहां से आपको सभी दिशाओं में जाने के लिए ट्रेन मिल जाएगी.

meaning of central railways station

शहर का जो भी सेंट्रल स्टेशन होता है, शहर के ट्रांसपोर्ट का सबसे मुख्य केंद्र होता है. साथ ही शहर में स्थित अन्य स्टेशनों की तुलना में यहां ज्यादा सेवाएं और सुविधाएं मिलती है. क्योंकि सेंट्रल स्टेशन शहर का सबसे प्रमुख स्टेशन होता है इसलिए यह बहुत ही व्यस्त और बहुत ही बड़े क्षेत्र में फैला होता है. यहां देशभर के बड़े-बड़े ट्रेन एक शहर को दूसरे शहर से जुड़ने का भी काम करते हैं. शायद अब आप सेंट्रल का मतलब समझ चुके होंगे.

टर्मिनल का मतलब क्या होता है | meaning of Terminal railway station in hindi

भारत में बहुत ही कम रेलवे स्टेशनों के नाम के पीछे टर्मिनल लगा होता है, लेकिन रेलवे की भाषा में टर्मिनल का क्या मतलब होता है. अगर हम ध्यान दे तो, ट्रेन एक स्थान से चलती है और शहर के किसी दूसरे स्थान पर रुक जाती हैं, लेकिन एक स्थान ऐसा आता है, जिसके आगे ट्रेन नहीं जा सकते या रेलवे लाइन होते ही नहीं है. उसे टर्मिनल बना दिया जाता है.

terminal ka matalab kya hota hai

यदि हम टर्मिनल को आसान भाषा में समझे तो जब किसी स्टेशन के आगे कोई भी रेलवे लाइन नहीं जाती है तो उसे टर्मिनल या टर्मिनस का नाम दे दिया जाता है. भारत में स्थित दो सबसे प्रमुख टर्मिनल जिसका नाम अक्सर हम सुनते हैं जैसे आनंद विहार टर्मिनल या लोकमान्य तिलक टर्मिनल.

हॉल्ट क्या होता है | meaning of halt railway station in hindi

शायद अगर आप मेट्रो सिटी में रहते हो तो, आपको हॉल्ट के बारे में नहीं जानते होंगे, लेकिन छोटे शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों से गुजरने वाले ट्रेन हॉल्ट पर भी रुकते हैं. हॉल्ट, एक छोटा सा स्टेशन होता है, जहां सिर्फ पैसेंजर ट्रेन ही रुकती है, रेलवे विभाग ने छोटे गांव और वहां के लोगों की सुविधा के लिए हॉल्ट बनाते हैं. ताकि ग्रामीण व्यक्त रेलवे की सुविधा ले पाए. पटना बिहार के रेलवे लाइन में कई सारे हॉल्ट देखने को मिल जाएंगे.

halt station meaning

अगर आप रेलवे में यात्रा करने का शौकीन है तो, रेलवे स्टेशनों के नाम के पीछे लिखे जाने वाले हॉल्ट, जंक्शन, सेंट्रल, टर्मिनल मे अंतर को समझ गए होंगे, अब जब भी आप किसी रेलवे जंक्शन, सेंट्रल, टर्मिनल या हॉल्ट से गुजरे तो आपको उसके नाम की विशेषता पता लग जाएगी. रेलवे से जुड़े यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो हमें कमेंट में बताएं और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.