झारखण्ड के जयराम महतो की जीवनी | Biography of tiger jayram mahto jharkhand in hindi

झारखण्ड के जयराम महतो की जीवनी (Biography of tiger jayram mahto jharkhand) : झारखंड के जयराम महतो का पूरा नाम जयराम कुमार महतो है लेकिन उन्हें यहां के लोग उन्हें टाइगर जयराम महतो के उपनाम से जानते हैं. बचपन में वह काफी तेज़ और फुर्तीले थे, इसलिए लोग उन्हें टाइगर कहते है, और आज उनके नाम के साथ ही टाइगर जोड़ दिया गया. जयराम महतो आज भी फुटबॉल और क्रिकेट खेलते समय आज भी अपने तेज़ और फुर्तीलेपन का प्रमाण देते हैं.

झारखण्ड के जयराम महतो की जीवनी | Biography of tiger jayram mahto jharkhand in hindi

jayram mahto jharkhand: झारखंड की इतिहास में जब-जब कोई आंदोलन हुआ है, तब-तब यहां से कोई ना कोई नेता उभर कर सामने आया है. चाहे वह तिलका आंदोलन के नेतृत्व करने वाले तिलका मांझी हो. या कोल विद्रोह का नेतृत्व करने वाले बुधु भगत, या धरती आबा कहे जाने वाले भगवान बिरसा मुंडा की कहानी.

यदि झारखण्ड का इतिहास उठाकर देखा जाए तो, ऐसे कई आन्दोलनकारी नेताओ के नाम सामने आयेगे, जिन्होंने झारखण्ड की धरती के लिए अपने आप को समर्पित किया. ठीक उसी प्रकार झारखंड में भाषा विवाद को लेकर टाइगर जयराम महतो का नाम आ रहा है. यदि आप नहीं जानते है की, झारखण्ड के जयराम महतो कौन है, जयराम महतो की biography क्या है? और वो क्यों झारखण्ड के झारखंड में भाषा विवाद में उन्हें युवा क्रांतिकारी कहा जा रहा है.

झारखण्ड के जयराम महतो की जीवनी (Biography of tiger jayram mahto jharkhand)

झारखंड के जयराम महतो का पूरा नाम जयराम कुमार महतो है लेकिन उन्हें यहां के लोग उन्हें टाइगर जयराम महतो के उपनाम से जानते हैं. बचपन में वह काफी तेज़ और फुर्तीले थे, इसलिए लोग उन्हें टाइगर कहते है, और आज उनके नाम के साथ ही टाइगर जोड़ दिया गया. जयराम महतो आज भी फुटबॉल और क्रिकेट खेलते समय आज भी अपने तेज़ और फुर्तीलेपन का प्रमाण देते हैं.

झारखंड राज्य में धनबाद जिले के पारसनाथ की पहाड़ियों से सटे एक प्रखंड तोपचांची में रहने वाले जयराम महतो का जन्म मानटांड नाम के गाँव में 27 दिसंबर 1994 में हुआ था. इनका पुरा बचपन इसी गाँव में बिता है, इनके पिता जी का नाम कृष्णा प्रसाद महतो था. जो अब इस दुनियाँ में नहीं रहे. जयराम महतो अपने जीवन का आदर्श शहीद भगत सिंह, विनोद बिहारी महतो, जयपाल सिंह मुंडा, और बिरसा मुंडा को अपना आदर्श मानते है.

पूरा नाम (Name) जयराम कुमार महतो
उपनाम (Nickname) टाइगर जयराम महतो
जन्म (Born) 27 दिसंबर 1994
जन्मस्थान (Birthplace) मानटांड, तोपचांची, धनबाद
शिक्षा (Education) अंग्रेजी साहित्य में मास्टर डिग्री, और PHD की पढ़ाई जारी
पिता (Father) शहीद कृष्णा प्रसाद महतो
जयराम महतो का परिवार स्वयं (जयराम महतो), एक भाई, उनकी माँ, दादी, और एक चाचा

jayram mahto jharkhand biography

जयराम महतो का शैक्षिणक जीवन (Jairam Mahto education and qualification)

जयराम महतो का शैक्षिणक जीवन की शुरुआत उनके गाँव से ही हुई. इनकी प्रारंभिक शिक्षा में दसवीं तक की पढाई S.S.D High school Dhanbad से हुई, इसके बाद उन्होंने अपनी पढाई जारी रखने की सोची, इसके लिए उन्होंने science stream से अपनी 12वीं की पढाई करताश कालेज, करातासगढ़ से पूरी की. इसके बाद उन्होंने English Hons में B.A की डिग्री में अपनी graduation, Rajganj degree college, Rajganj, Dhanbad से पूरी की.

बाद में उन्होंने P.K Roy Memorial College Dhanbad से अंग्रेजी साहित्य में मास्टर डिग्री लिया. और अभी वर्तमान में बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल यूनिवर्सिटी से PHD कर रहे हैं. अगर जयराम महतो की बायोग्राफी में और उनके जीवन में थोड़ा और अंदर जाकर देखा जाए तो वह एक युवा क्रांतिकारी, होने के साथ साथ वो फ्री के teacher भी है, जी हाँ, वे अपनी PHD की पढाई के साथ साथ, अपने गाँव मानटांड, तोपचांची में बच्चो और +2 के student को English और अन्य subjects भी पढ़ते है.

जयराम महतो का पारिवारिक जीवन (tiger jayram mahto Biography hindi)

जयराम महतो के पिता शहीद कृष्ण महतो भी एक झारखंड के आंदोलनकारी नेता थे, इनके पिता झारखण्ड के विनोद बिहारी महतो के नजदीकी और अतिप्रिय व्यक्ति थे. शहीद कृष्ण महतो ने झारखंड पृथक राज्य आन्दोलन में अपन महत्वपूर्ण योगदान दिया और साथ ही तोपचांची के आसपास के क्षेत्रिय आन्दोलनो में भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया था. झारखण्ड आन्दोलन में हिस्सा लेने के क्रम में सड़क जाम और नाकाबंदी करने के दौरान लाठियों के प्रहार से इनके सर पर चोट लगाने से इनकी मृत्यु हो गई.

Biography of tiger jayram mahto jharkhand

जयराम महतो के पिता की मृत्यु के बाद, इनके परिवार से पिता का साया उठ गया. आज झारखण्ड के जयराम महतो की माँ को झारखण्ड सरकार की आश्रित पेंशन योजना के अनुसार 3000 रुपये की मानसिक पेंशन मिलता है. इनके परिवार में इनकी मां, एक भाई, दादी और एक जन्मांध चाचा हैं जो चाचा सेवाराम महतो जन्म से अंधे हैं. धनबाद के जयराम महतो एक निर्धन परिवार से है और इनका परिवार जीवन यापन करने के लिए लगभग कृषि पर ही निर्भर है.

जयराम महतो का क्रांतिकारी जीवन और भाषा आन्दोलन कैसे शुरू किया

ऐसा कहा जाता है, कि क्रांतिकारी का खून उसके बच्चे में होता है, जयराम महतो भी क्रांतिकारी कृष्ण महतो के बेटे हैं, और जयराम महतो अपने पिता से प्रेरित होकर झारखंड के भाषा आंदोलन का नेतृत्व करने की ठानी है. उनका ऐसा कहना है कि 1932 के खतियान और भाषा आंदोलन झारखण्ड समाज और संस्कृति के हित के लिए है. उनका मानना है कि झारखंड की भाषा को संस्कृति को और यहां के लोगों को हमेशा से प्रताड़ित किया गया है, और जल जंगल जमीन के लिए यहां के लोगों को दबाने का काम बाहरी राज्य द्वारा आज भी जारी हैं.

झारखंड की पहचान और संस्कृति को बचाए रखने के लिए ही उन्होंने इस भाषा आंदोलन का नेतृत्व कर रहे है. इन्होंने इस क्रांति में 32 खतियान आधारित नियोजन नीति लागू करने और भाषा आधारित आंदोलन को जारी रखने का संकल्प लिया है. और पिछले कुछ समय में झारखंड में भाषा विवाद को लेकर झारखण्ड के जयराम महतो नायक के रुप में उभर कर सामने आ रहे है. एक क्षेत्रीय भाषण में उन्होंने कहा की, हमारी क्षेत्रीय भाषा हमारी संस्कृति है. हम भोजपुरी, मगही और अंगिका भाषा का भी सम्मान करते हैं, लेकिन हमारी भी अपनी पहचान होनी चाहिए.

टाइगर जयराम महतो किस पार्टी से जुड़े हैं

झारखंड के जय राम महतो किसी भी पार्टी से जुड़े हुए नहीं हैं, और ना ही वह किसी भी पार्टी का प्रचार करते हैं. वह केवल 1932 के खतियान और भाषा आंदोलन का नेतृत्व कर रहे हैं. इनका कहना है, कि वह सिर्फ यहाँ के आम लोग, आदिवासी परिवारों और यहां की संस्कृति को हक दिलाने के लिए आन्दोलन कर रहे हैं. उनका कहना है की, 1932 का खतियान आधारित नियोजन नीति बनाने तक उनका यह आंदोलन जारी रहेगा. "ना हम रुकेगें और ना हम झुकेगे" आज अगर यहां के आदिवासी और मूलवासी नहीं चेते तो राज्य पूंजीपतियों के हाथों बिक जाएगा. यहां के आदिवासी और मूलवासी पहचान के लिए मोहताज हो जाएंगे

टाइगर जयराम महतो क्या काम करते हैं?

jayram mahto education

जयराम महतो अपने फ्री समय में नजदीकी गांव-गांव जाकर गरीब बच्चों को मुफ्त में शिक्षा देते हैं, बच्चों को अंग्रेजी और झारखंड से जुड़े इतिहास और भूगोल के बारे में भी पढ़ाते हैं, इसके अलावा अपने जीवन यापन करने के लिए कृषि से भी जुड़े हुए हैं. आपको टाइगर जयराम महतो की बायोग्राफी (Biography of tiger jayram mahto in hindi) को पढ़कर आपको भी प्रेरणा मिली होगी, तो अपने सवाल और सुझाव हमें कमेंट में जरूर बताये.